Headlines
Loading...
What is NRI? NRI किसे कहते हैं?

What is NRI? NRI किसे कहते हैं?

 

nri

हेल्लो दोस्तों।

आज के टॉपिक की शुरुआत करेंगे NRI से। NRI किसे कहते हैं? और इससे जुड़े अन्य सवालों ओर इसके इर्दगिर्द घूमने वाली बहोत से बातों को आज हम क्लियर करेंगे। भारत के कई ऐसे मूल निवासी है जो अब अलग अलग देशो में अपना जीवन व्यापन कर रहे है, उन्होंने समय के साथ लोगों ने वहीं की नागरिकता प्राप्त कर ली है| यह लोग दूसरे देश में रह कर भी अपने देश की सभ्यता और संस्कृति का विस्तार करने के लिए अग्रणी है। यह लोग भले दूसरे देश मे जीवन व्यापन कर रहे है लेकिन पर भी यह भारत देश की अर्थव्यवस्था का एक अहम हिस्सा हैं। अब आप सोचेंगे भला ये कैसे? तो आगे इसी की चर्चा करेंगे और आपके कंफ्यूज़न को दूर करेंगे। तो बने रहिये हमारे साथ।


NRI का Full Form – Non Resident Indian (नॉन रेसिडेंट ऑफ इंडिया) 


What is NRI?
एनआरआई NRI का अर्थ क्या है ?


भारतीय नागरिक जो कि किसी काम से, पढ़ाई या फिर किसी अन्य कारण से अगर देश से कम से कम 6 महीने से बाहर हो या किसी व्यक्ति ने दूसरे देश की नागरिकता ले ली हो लेकिन जन्म भारत मे हुआ हो ऐसी स्थिति में वह एन आर आई Non Resident Indian या फिर प्रवासी भारतीय कहलाएगा।

प्रवासी भारतीय दिवस कब मनाया जाता हैं?
When nri day was celebrated in india?

9 जनवरी की प्रवासी भारतीय दिवस मनाया जाता हैं और इसे सबसे पहले 2001 में मनाया गया था।

प्रवासी भारतीय दिवस क्यों मनाया जाता हैं?
Why nri day was celebrated?

प्रवासी भारतीय दिवस भारत देश के विकास में प्रवासी भारतीय समुदाय के योगदान के लिए भारत गणराज्य के द्वारा 9 जनवरी को मनाया जाता है। 9 जनवरी 1915 को हमारे राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की दक्षिण अफ्रीका से मुंबई को वापसी हुई थी एवं इसी की याद में 9 जनवरी को प्रवासी भारतीय दिवस मनाया जाता हैं।

 NRI  बनने के कारण:-

  • नौकरी और रोजगार
  • उच्च शिक्षा 
  • यात्रा और अवकाश के कारण 
  • उपचार 
  • प्रशिक्षण 
  • व्यावसायिक 
  • नागरिकता

NRI कौन होता हैं और NRI से सम्बंधित जानकारी तो मिल ही गई हैं लेकिन क्या अपने सोचा हैं कि NRI भले ही दुनिया के किसी भी हिस्से में अपना जीवन व्यापन कर रहा हो लेकिन अपने परिवार को कैसे भूल सकता हैं। स्वभाविक हैं कि इंसान पैसा कमाता खुद के ओर परिवार के लिए ओर ऐसी स्थिति में व्यक्ति अपनी कमाई का कुछ हिस्सा परिवार के भरण पोषण के लिए तो भेजेगा ही। इसी स्थिति को देखते हुए भारत में Foreign Exchange Management Act Fema Act 1999 अस्तित्व के आया।

fema act



Fema Act 1999 क्या हैं?

Foreign Exchange Management Act विदेशी मुद्रा प्रबंधन अधिनियम, 1999, भारत की संसद का एक अधिनियम Act है, जो विदेशी व्यापार और भुगतान को सुविधा जनक बनाने के लिए और भारत में विदेशी मुद्रा बाजार के व्यवस्थित विकास को, उनके रखरखाव को बढ़ावा देने के उद्देश्य से बनाया गया था। 

कोई व्यक्ति अगर विदेश में काम करने गया है तो स्वभाविक है उसे जो पैसा है पहले हिंदुस्तान में देना ही पड़ेगा और देने के लिए उसका भारत की किसी बैंक में खाता खुल्वाना ही पड़ेगा। NRI के लिए 3 प्रकार के खाते होते हैं।

Types Of NRI Accounts

Non- Resident Ordinary (NRO) Accounts :- मान लोजिये कोई व्यक्ति कनाडा में काम कर रहा है और उसे पैसे भेजना हो तो वह NRO ACCOUNT में भेज सकता हैं। व्यक्ति का व्यवसाय भारत मे भी है और भारत के बाहर भी है तो भी वह भारत मे कमाया पैसा तो डाल सकता है और साथ ही विदेश का पैसा भी जमा कर सकता है। लेकिन इसपर टैक्स लगता हैं।

Non-Resident External (NRE) Accounts :- इस एकाउंट में व्यक्ति केवल विदेश का पैसा ही जमा कर सकता हैं। इस एकाउंट की खासियत हैं कि न ही कोई एक्स्ट्रा चार्ज कटता है ओर न ही कोई टैक्स देना पडता हैं।

Foreign Currency Non-Resident (FCNR) Accounts :- यह एकाउंट में व्यक्ति जिस भी देश से पेमेंट भेज रहा है यानी डॉलर, रियाल या पाउंड तो वह पेमेंट उसी मुद्रा में रहता हैं मतलब रुपए में कन्वर्ट नही होता। यह खाता businesman ओर मार्केटिंग के लिए बहोत फायदेमंद है और ऐसी स्थिति में अधिक यूज़ होता हैं।

nri accounts


Conclusion:- आशा हैं कि NRI क्या होता? Fema Act 1999 क्या हैं? NRI Accounts के प्रकार को आसानी से समझ गए होंगे। और भी जानकारी से रूबरू होने के लिए हमारे दूसरे अर्टिकल भी जाकर देखे। विश्वास कीजिए आपको निराशा नही होगी। कमेंट बॉक्स में अपनी अमुल्य राय देना न भूले।

FAQ's

  • क्या एनआरआई भारत में संपत्ति खरीद सकता है?
NRI संपत्ति को या तो एकल मालिक के रूप में या किसी अन्य NRI के साथ संयुक्त रूप से खरीद सकता है। और अगर एक भारतीय या एक व्यक्ति, जिसे भारत में किसी संपत्ति में निवेश करने की अनुमति नहीं है, ऐसी संपत्ति में वह संयुक्त धारक नहीं बन सकता है, भले ही खरीदी में दूसरे धारक का योगदान भले कुछ भी हो।

  • क्या एनआरआई के लिए पैन कार्ड जरूरी है?
एक NRI के पास पैन कार्ड होना अनिवार्य है। जैसे अगर एक एनआरआई भारत में कर योग्य आय अर्जित करता है। अगर कोई एनआरआई शेयरों में, डिपॉजिटरी के माध्यम से या ब्रोकर के माध्यम से व्यापार करना चाहता है। अगर वह म्यूच्यूअल फण्ड में निवेश करना चाहता हो ऐसी स्थिति में PAN कार्ड अनिवार्य हैं।

  • क्या NRI को मिल सकता है आधार कार्ड?
हाँ। वैलिड भारतीय पासपोर्ट वाला एक NRI ( नाबालिग हो या वयस्क ) किसी भी आधार केंद्र में जाकर आधार के लिए आवेदन कर सकता है। ओर अगर पति या पत्नी एनआरआई हैं तो आवेदक का वैलिड भारतीय पासपोर्ट पहचान के प्रमाण (POI) के रूप में अनिवार्य है।

  • आर एन आई पोर्टल क्या है?
उत्तर प्रदेश की सरकार द्वारा NRI यूनिफाइड पोर्टल लॉन्च किया गया है। इस पोर्टल की सहायता से प्रवासी भारतीय (एनआरआई) अपने मुद्दों, समस्या को स्थानीय प्रशासन या राज्य सरकार के सहयोग से हल कर पाएंगे, क्योंकि ऐसे कई उदाहरण मिलते हैं जब उन्हें अपने परिवारों, घर के साथ-साथ स्थानीय प्रशासन के मुद्दे से जुड़ी समस्याओं को सुलझाने में कठिनाई होती हैं। बता दें कि राज्य सरकार दुनिया के विभिन्न देशों में कार्यरत राज्य के प्रवासी श्रमिकों का एक डेटाबेस भी तैयार करने जा रही हैं, जो किसी भी आपात स्थिति के समय सहायता प्रदान करने में मदद करेगी। इसके अलावा यह पोर्टल उन लोगों को भी सहायता प्रदान करेगा जो विदेश जाना चाहते हैं।

  • NRI migration certificate kya hota hai?
  • NRI माइग्रेशन सर्टिफिकेट क्या होता है?

एनआरआई (अनिवासी भारतीय) प्रमाणपत्र केवल भारतीय पासपोर्ट रखने वाले व्यक्तियों को ही जारी किया जाता है ताकि वे भारत में शैक्षणिक संस्थानों में अपने NRI कोटे के तहत प्रवेश के लिए अपने निकट संबंधी को प्रायोजित कर सकें।

  • क्या NRI वोट डाल सकता हैं?
जी हाँ! NRI वोट डाल सकता हैं उसे प्रॉक्सी वोट कहते हैं।

0 Comments: