तेलंगाना का गठन कब हुआ? । Telangana Foundation Day

 2 जून, 2014 एक ऐतिहासिक दिन जब तेलंगाना अस्तित्व में आया। इस वर्ष तेलंगाना गठन दिवस की सातवीं वर्षगांठ है।2014 की शुरुआत में, तेलंगाना विधेयक संसद के दोनों सदनों द्वारा पारित किया गया था। 4 मार्च 2014 को इसे माननीय राष्ट्रपति की मंजूरी मिली थी। जिसके बाद भारत की सरकार ने 2 जून को तेलंगाना स्थापना दिवस के रूप में घोषित किया। तेलंगाना भारत का 29 वां राज्य बना। तेलंगाना को youngest state in India के नाम से भी जाना जाता हैं। 2 जून को स्थापना दिवस घोषित होने के बाद अप्रैल 2014 के चुनावों हुए, तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS) की विजयी हुई और के चंद्रशेखर राव ने तेलंगाना के पहले मुख्यमंत्री के रूप में शपथ ली।

राज्य का नाम तेलंगाना कैसे पड़ा?

तेलंगाना नाम तेलुगु अंगना शब्द से लिया गया था, जिसका अर्थ है वह स्थान जहाँ तेलुगु बोली जाती है। बता दे कि निज़ामों (1724-1948) के युग के दौरान इस शब्द का इस्तेमाल अपने राज्य के मराठी भाषी क्षेत्रों से अलग करने के लिए किया गया था।


तेलंगाना गठन दिवस (Telangana Formation Day) का इतिहास 

भाषाई आधार पर राज्यों के निर्माण की तैयारी के लिए राज्य पुनर्गठन समिति (SRC) की सन 1953 में नियुक्ति की गई थी। 1 नवंबर, 1956 को तत्कालीन गृह मंत्री पंडित गोविंद बल्लभ पंत ने आंध्र प्रदेश बनाने के लिए आंध्र राज्य और तेलंगाना क्षेत्र को मिलाने का फैसला किया था।


फिर 1969 और 1973 के बीच की अवधि को राजनीतिक विरोधों द्वारा चिह्नित किया गया था जिसमें आंध्र प्रदेश के गठन के दौरान किए गए सुरक्षा उपायों के कार्यान्वयन के लिए कहा गया था। तब यह धीरे-धीरे अलग तेलंगाना राज्य की मांग के रूप में सामने आया।

यह भी पढ़े :- भारत रत्न मिलने पर क्या सुविधाएं मिलती है?

1997 में, भाजपा की राज्य की इकाई ने एक अलग तेलंगाना की मांग करते हुए एक प्रस्ताव पारित किया। और 2000 में, इस क्षेत्र के कांग्रेस पार्टी के विधायकों ने तेलंगाना कांग्रेस विधायक फोरम का गठन किया गया। तेलंगाना राज्य का समर्थन करने का अनुरोध करते हुए अपनी अध्यक्ष सोनिया गांधी को एक ज्ञापन सौंपा। फिर कलवकुंतला चंद्रशेखर राव के नेतृत्व में तेलंगाना राष्ट्र समिति (TRS) नामक एक नई पार्टी का गठन अप्रैल 2001 में हैदराबाद के साथ अपनी राजधानी के रूप में तेलंगाना राज्य बनाने के उद्देश्य से किया गया था।


2001 में, कांग्रेस कार्य समिति ने तेलंगाना राज्य की मांग को देखने के लिए एक दूसरे SRC के गठन के लिए NDA सरकार को एक प्रस्ताव भेजा। इसे तत्कालीन केंद्रीय गृह मंत्री लालकृष्ण आडवाणी ने खारिज कर दिया था। फिर साल दर साल निकलने के बाद 9 दिसंबर 2009 को तत्कालीन केंद्रीय गृह मंत्री पी चिदंबरम ने घोषणा की कि भारत सरकार एक अलग तेलंगाना राज्य बनाने की प्रक्रिया शुरू करेगी।

3 अक्टूबर 2013 को, केंद्रीय मंत्रिमंडल ने तेलंगाना के नए राज्य के निर्माण को मंजूरी दी। तेलंगाना विधेयक संसद द्वारा पारित किया गया और सरकार ने 2 जून 2014 को तेलंगाना स्थापना दिवस (Telangana Foundation Day) घोषित किया गया। और आज हम इसका 7वां स्थापना दिवस मना रहे है। हैदराबाद में हुसैन सागर है जो कि अपनी दिल जैसी बनी आकृति के लिए बहोत ही मशहूर हैं।

Post a Comment

Post a Comment (0)

Previous Post Next Post